95000 UPI यूजर्स के साथ हुआ फ्रॉड, अगर UPI का करते हैं इस्तेमाल तो न करे ये गलती, नहीं तो बैंक अकाउंट हो जाएगा खाली

0
804
UPI

UPI पेमेंट सिस्टम आने के बाद से भारत में डिजिटल पेमेंट तेजी से बढ रहा है। क्योंकि UPI पेमेंट तुरंत और आसानी से होता है इसलिए लोग Paytm, PhonePe, GPay आदि ऐप का प्रयोग करके यूपीआई ट्रांजैक्शन कर रहे हैं। जैसे जैसे UPI पेमेंट में बढ़ोतरी हो रही हैं वैसे वैसे इससे जुड़े फ्रॉड में भी वृद्धि हो रही है।

सरकारी डेटा के अनुसार पिछले वित्त वर्ष 95 हजार से अधिक यूपीआई के माध्यम से धोखाधड़ी हुई हैं। जो न ही तो UPI ऐप में किसी भी गड़बड़ी के कारण हुआ है और न ही तो यूपीआई ऐप को हैक करने के कारण। यदि हम थोड़ी सी सावधानी बरतें तो इन फ्रॉड से आसानी से बचा जा सकता हैं।

बढ़ रहें हैं UPI फ्रॉड के मामले

UPI पेमेंट सिस्टम के आने के बाद से देश में डिजिटल पेमेंट में काफी बढ़ोतरी हुई हैं। लोग कैश का कम से कम उपयोग करके यूपीआई से पेमेंट कर रहे हैं। इसके साथ ही यूपीआई से होनेवाले धोखाधड़ी के मामलों में भी तेजी से बढ़ोतरी हुई हैं।

सरकारी आंकड़ों के अनुसार पिछले वित्त वर्ष में 95 हजार से अधिक यूपीआई के माध्यम से धोखाधड़ी हुई हैं। जिनकी संख्या वर्ष 2021-2022 मे 84 हजार थी, और 2020-2021 में 77 हजार थी। इसमें लगातार वृद्धि हो रही हैं।

इन सभी फ्रॉड में से अधिकतर फ्रॉड न ही तो UPI ऐप में किसी भी गड़बड़ी के कारण हुआ है और न ही तो यूपीआई ऐप को हैक करने के कारण। यदि हम थोड़ी सी सावधानी बरतें तो इन फ्रॉड से आसानी से बच सकते हैं।

यूपीआई फ्रॉड से बचने के लिए अपनाए ये तरीके

कुछ उपायों को अपनाकर हम यूपीआई फ्रॉड से बच सकते हैं। कभी भी अपना UPI पिन किसी के भी साथ शेयर न करें। समय समय पर अपने यूपीआई पिन को बदलना चाहिए। कभी भी किसी अनजान लिंक पर क्लिक न करे।

कभी कभी किसी कारणवश हमें बैंक या पेमेंट सर्विस प्रोवाइडर के कस्टमर केयर से संपर्क करना होता हैं तो हम गूगल पर कस्टमर केयर का नंबर सर्च करते हैं, ऐसा करने पर कई बार कस्टमर केयर के बदले स्केमर्स का नंबर सर्च रिजल्ट में आ जाता हैं। इसलिए कभी भी कस्टमर केयर का नंबर ऑफिशल वेबसाइट या ऐप से ही ले।

ध्यान रखें यदि आपको किसी से पैसे प्राप्त करने है तो आपको पिन डालने की कोई आवश्यकता नहीं होती तो पैसे प्राप्त करने के लिए कभी पिन न डाले। कभी भी पैसे प्राप्त करने के लिए QR कोड स्कैन करने की भी आवश्यकता नहीं होती हैं। इसलिए कभी भी पैसे प्राप्त करने के लिए QR कोड स्कैन न करें।

पीएम मोदी के अमेरिकी दौरे से घबराया पाकिस्तान, कहा – हम भारत से ….