Indian Railways का कमाल का नियम, अब यात्रा को बीच में छोड़कर 2 दिन बाद भी कर सकते है पूरा, नहीं लगेगा कोई अतिरिक्त किराया

0
223
Indian Railways

Break Journey: Indian Railways दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है। इसमें प्रति-दिन करोड़ों यात्री सफर करते हैं। देश में लंबी दूरी की यात्रा करने के लिए भारतीय रेलवे लोगों की पहली पसंद हैं।

यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे लगातार यात्री सुविधा में सुधार और बढोतरी कर रहा हैं। यात्रियों की सुविधा के लिए Indian Railways ने कई नियम बनाए हैं। इन नियमों के बारे में बहुत से लोग नहीं जानते इसलिए आवश्यकता पड़ने पर लोग इन नियमों का लाभ नहीं ले पाते हैं।

आज हम ऐसे ही एक नियम के बारे में बताने वाले हैं। ये नियम है ब्रेक जर्नी का। भारतीय रेलवे अपने यात्रियों को लंबी यात्रा के समय यात्रा के बीच में ठहरने की सुविधा देता हैं। इसे ब्रेक जर्नी कहते हैं।

Indian Railways में Break Journey का नियम

भारतीय रेलवे अपने यात्रियों को लंबी यात्रा के समय यात्रा के बीच में ठहरने की सुविधा देता हैं। इसे ब्रेक जर्नी (Break Journey) कहा जाता हैं। इस सुविधा का लाभ लेने के लिए यात्री को कम से कम 500 किलोमीटर की यात्रा करनी होगी।

उसके बाद ही यात्री अपनी यात्रा को ब्रेक जर्नी कर सकता है।Indian Railways के अनुसार यदि कोई यात्री 500 किलोमीटर की यात्रा पूरी कर लेता है तो वह अधिकतम 2 दिन के लिए ब्रेक जर्नी (Break Journey) कर सकता हैं।

1000 किलोमीटर से अधिक यात्रा होने पर यात्री को 2 बार ब्रेक जर्नी करने की सुविधा मिलेगी। यह सुविधा शताब्दी, जन शताब्दी और राजधानी एक्सप्रेस में उपलब्ध नहीं हैं। ब्रेक जर्नी सुविधा का लाभ लेने के लिए आपको जिस स्थान पर ठहरना है वहां के स्टेशन मास्टर या TC से संपर्क करना होगा।

इसके बाद उनसे ब्रेक जर्नी करने की अनुमति लेनी होगी। इसके बाद स्टेशन मास्टर आपके टिकट पर स्टेशन कोड लिखकर हस्ताक्षर कर देगा जिससे आप उसी टिकट से 2 दिन के बाद आगे की यात्रा कर सकते हैं।

ताजा समाचार: नारी सम्मान योजना से मध्य प्रदेश की महिलाओं को मिलेंगे प्रतिमाह 1500 रुपये, ऐसे करें आवेदन

धर्मांतरण की खबरों से मुख्यमंत्री खफा, कहा- कराएंगे पूरे प्रदेश में जांच, फिलहाल दमोह में हो रही कार्रवाई